रोहित शर्मा का बड़ा बयान कहा, मेरे पास एबी डीविलियर्स, क्रिस गेल और महेंद्र सिंह धोनी जितनी ताकत नहीं

मुंबई हलचल
नई दिल्ली। भारतीय टीम के सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा वनडे क्रिकेट में 3 दोहरा शतक लगाने वाले दुनिया के पहले बल्लेबाज बन गए हैं। मोहाली में श्रीलंका के खिलाफ उन्होंने नाबाद 208 रन बनाकर ये कारनामा किया। अपनी इस पारी में उन्होंने 12 लंबे-लंबे छक्के जड़े। रोहित शर्मा बड़ी आसानी के साथ छक्के लगा लेते हैं और उनके छक्के देखकर लगता ही नहीं है कि उन्होंने इसको मारने के लिए कोई बहुत ज्यादा प्रयास किया हो। अपनी टाइमिंग की बदौलत आसानी से वो लंबे-लंबे छक्के जड़ देते हैं। वहीं इसको लेकर अब उनका एक बड़ा बयान सामने आया है। उन्होंने कहा कि गेल, डीविलियर्स और धोनी की तरह उनके अंदर छक्के मारने की ताकत नहीं है। मैच के बाद प्रेस कॉन्फ्रेंस में रोहित शर्मा ने कहा कि मैं एबी डीविलियर्स, क्रिस गेल या महेंद्र सिंह धोनी की तरह नहीं हूं, मेरे पास उतनी ताकत नहीं है। गैप ढूंढने के लिए मुझे अपना दिमाग लगाना पड़ता है और अपनी क्षमता के अनुरुप ही खेलना होता है। उन्होंने कहा कि छक्के लगाना कतई आसान नहीं है, कड़े अभ्यास और मेहनत के बाद ही ऐसा संभव हो पाता है। जो आप टीवी पर देखते हैं उतना आसान होता नहीं है। उन्होंने कहा कि मैं श्रीलंका की फील्डिंग को तितर-बितर करना चाहता था। गौरतलब है श्रीलंका के खिलाफ दूसरे एकदिवसीय मैच में रोहित शर्मा ने 153 गेंदों में 208 रनों की जबरदस्त पारी खेली और इस दौरान सुरंगा लकमल के एक ओवर में उन्होंने चार छक्के लगाये। रोहित ने अपनी पारी में 13 चौके और 12 छक्के लगाये और श्रीलंकाई गेंदबाजी की बखिया उधेड़ दी। रोहित ने आखिरी 34 गेंदों में 100 रन बनाये। उनकी इस पारी का बदौलत भारतीय टीम ने श्रीलंका को 143 रन से हराकर सीरीज में वापसी की। वनडे क्रिकेट में रोहित शर्मा अब तक 3 दोहरे शतक लगा चुके हैं। इससे पहले उन्होंने आॅस्ट्रेलिया के खिलाफ भी दोहरा शतक जड़ा था और श्रीलंका के खिलाफ वो अपने एकदिवसीय करियर का उच्चतम स्कोर (264 रन) भी बना चुके हैं।