गुजरात-हिमाचल के एक्जिट पोल सर्वे में खिला कमल ही कमल- हाथ की पकड़ ढीली

नई दिल्ली। गुजरात और हिमाचल प्रदेश में विधानसभा चुनाव के बाद आए एक्जिट पोल सर्वे के आधार पर माना जा सकता है कि नरेंद्र मोदी के प्रधानमंत्री के बाद भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) का विजयी रथ इन राज्यों में भी नहीं थमेगा। सर्वे दोनों ही राज्यों में भाजपा को बड़ी जीत दिलाता दिख रहा है और पार्टी गुजरात में 22 साल से सत्ता पर काबिज रहेगी तो हिमाचल में 5 साल बाद सत्ता में लौट रही है। इंडिया टुडे-एक्सिस माई इंडिया के सर्वे में भाजपा गुजरात में सत्ता में पकड़ बनाए रखने में कामयाब होती दिख रही है। सर्वे में भाजपा को 99 से 113 सीट मिलने की उम्मीद जताई गई है। वहीं कांग्रेस के खाते में 68 से 82 सीट जा सकती है। हिमाचल प्रदेश में भाजपा का केसरिया लहर लौट आया है, सर्वे में भाजपा को 47-55 सीट और कांग्रेस को 13-20 सीट मिलता बताया गया है। एबीपी-सीएसडीएस के एक्जिट पोल सर्वे में गुजरात में कांग्रेस की आस तोड़ भाजपा बहुमत के साथ सत्ता में वापस लौट रही है और 182 सीटों में से 117 सीट उसके पास आ सकती है। जबकि कांग्रेस के खाते में 64 सीट आने की उम्मीद है। हिमाचल में भाजपा 35-41 (38) और कांग्रेस 26-32 (29) सीट जीत सकती है। न्यूज 24- टूडेज चाणक्य के सर्वे में गुजरात में भाजपा को बंपर जीत दिलाती दिखा रही है, उसके पास अन्य सर्वे से कहीं ज्यादा यानी 135 तक सीटें आ सकती हैं, वहीं कांग्रेस 47 तक थम सकती है। दूसरी ओर हिमाचल में भाजपा 55 और कांग्रेस 13 सीट अपने नाम कर सकती है। न्यूज नेशन के सर्वे में भाजपा गुजरात में 124-128 सीट के साथ सत्ता में बनी रह सकती है। जबकि कांग्रेस 52-56 तक सिमट सकती है। वहीं हिमाचल में भाजपा के पास 43-47 सीट और कांग्रेस के पास 19-23 सीट आने की उम्मीद है। नेटवर्क 18 के सर्वे में भी भाजपा जीत की ओर बढ़ती दिख रही है, भाजपा यहां 109 सीट जीत रही है, जबकि कांग्रेस 70 सीट के आसपास रह सकती है, वहीं अन्य को 3 सीट मिलने की संभावना है। हिमाचल में भाजपा 55 सीट और कांग्रेस 13 तक सिमट सकती है। टाइम्स नाउ-वीएमआर के संयुक्त एक्जिट पोल सर्वे में गुजरात में 22 साल से सत्तारुढ़ भाजपा को 113 सीटें मिलने की उम्मीद जताई गई है, जबकि कांग्रेस 66 सीट हासिल कर सकती है। रिपब्लिक टीवी और सी वोटर्स के एक्जिट पोल सर्वे में गुजरात में भाजपा की सत्ता में वापसी के संकेत हैं, और खाते में 108 सीटें आने की उम्मीद है, वहीं कांग्रेस 74 तक सीट पा सकती है। न्यूज एक्स-सीएनएक्स के सर्वे में भी गुजरात में केसरिया लहराने जा रहा है। भाजपा यहां 110 से 120 सीटों पर कब्जा जमाने जा रही है, जबकि तगड़ी चुनौती देती दिख रही कांग्रेस 65 से 75 सीट तक सिमट सकती है। हिमाचल में भाजपा 42 से 50 और कांग्रेस 18-24 सीट तक हासिल करेगी। चाणक्य के सर्वे में हिमाचल प्रदेश में भाजपा 5 साल बाद सत्ता में लौटती दिख रही है, और उसके पास 48 से 62 सीट पाने की आस है, वहीं कांग्रेस 6 से 13 सीटों तक सिमट सकती है। जबकि अन्य के खाते में महज 3 सीट आने की उम्मीद है। जी न्यूज-एक्सिस के सर्वे में भी भाजपा गुजरात में बहुमत हासिल कर रही है, उसके पास 111 और कांग्रेस के पास 69 सीटें आने की उम्मीद की जा रही है। दूसरी ओर हिमाचल प्रदेश में 68 में से 51 सीट भाजपा के खाते में जा रहा है, जबकि कांग्रेस 18 तक सिमट सकती है। वहीं इंडिया टीवी-वीएमआर के सर्वे में भी भाजपा सीट के लिहाज से शतक लगाने जा रही है। सर्वे में वह 109 और कांग्रेस 70 सीटों तक पहुंच रही है। टाइम्स आॅफ इंडिया-सी वोटर के सर्वे में हिमाचल प्रदेश में भाजपा 41 सीट तक हासिल कर सकती है, जबकि सत्तारुढ़ कांग्रेस 25 सीट तक सिमट सकती है। पिछली बार उसके खाते में 36 सीटें आई थी। जबकि गुजरात में भाजपा 108 और कांग्रेस 74 तक सीटें अपने कब्जे में ला सकती है। 182 सीटों वाले गुजरात विधानसभा चुनाव के लिए पहले चरण में 9 दिसंबर और दूसरे चरण में 14 दिसंबर को मतदान हुए। पहले चरण में 66.75% और दूसरे चरण में 68.70% मतदान हुए। वहीं पहाड़ी राज्य हिमाचल प्रदेश में 68 विधानसभा सीटों के लिए 9 नवंबर को वोट पड़े थे। राज्य में 74% वोटिंग हुई। राज्य में कांग्रेस के वीरभद्र सिंह के सामने सत्ता बचाने की चुनौती है तो वहीं भाजपा के प्रेम कुमार धूमल 5 साल बाद फिर से सत्ता पर कब्जा जमाने की आस लगाए बैठे हैं। फिलहाल 68 सदस्यीय विधानसभा में कांग्रेस के 35 और भाजपा के पास 28 विधायकों के साथ चार निर्दलीय थे जबकि एक सीट खाली थी।